लक्ष्मीनारायण चॅरिटेबल ट्रस्ट | निरामय स्वास्थ्यम्

हमारी संस्था (लक्ष्मीनारायण चॅरिटेबल ट्रस्ट निरामय स्वास्थ्यम्) आरोग्य जागृति का कार्य कर रही हे | आज आरोग्य के विषय में हर व्यक्ति, परिवार, चिंता में हे या तकलीफ भुगत रहा हे | इन हालातों में मौजूदा चिकित्सा व्यवस्था कारगर साबित नहीं हों पा रही | मौजूदा चिकित्सा व्यवस्था के पास हों रही बीमारियों का कोई ठोस इलाज नहीं हे ,इसीलिए कई बीमारियों की आजीवन दवाई लेनी पड़ती हे जेसे की “डायबिटीस ,ब्लडप्रेशर,माइग्रेन ,थाईरोइड ओर अन्य कई बीमारियाँ | दवाई लेने से बीमारियाँ कंट्रोल में रहती हे पर जड़ से मिटती नहीं हे | तो सोचने वाली बात यह हे के क्या इन बीमारियों का कोई इलाज नहीं ? क्या इन बीमारियों से कभी छुट्कारा नहीं मिल सकता ? मौजूदा व्यवस्था बीमार होने के बाद कौन सी दवाई ले यह बताती हे पर इतनी बीमारियों के बढ़ने के बावजुद कोई व्यवस्था ,स्कुल ,कोलेज या यूनिवर्सिटी में यह मार्गदशन नहीं दिया जाता के निरोगी केसे रहा जाए ? हमारी संस्था (लक्ष्मीनारायण चॅरिटेबल ट्रस्ट | निरामय स्वास्थ्यम्) लोगों को आयुर्वेद के आधार पर निरोगी केसे रहा जाए ओर रोगों को बिना दवाई रसोईघर के मसाले जो की उत्तम औषधि हे उनके द्वारा रोग मुक्ति का मार्गदर्शन निः शुल्क “ निरामय आरोग्य सभा ”द्वारा सोसायटी ,शैक्षणिक ,सामाजिक ओर धार्मिक संस्थाओ में जा कर दे रही हे | “ निरामय आरोग्य सभा ” अंतर्गत लोगों को आयुर्वेद में बताए गए आरोग्य के रहस्य को वैज्ञानिक पृष्टभूमि के साथ प्रस्तूत किया जाता हे ओर हमारे रसोईघर के जहर यानि की रिफ़ाइन्ड नमक ,रिफ़ाइन्ड तेल ,शुगर (चीनी ),मैदा ओर केमिकल वाली वस्तुओं का उपयोग बंध कर के शुध्ध जेसे के सैंधा नमक , कच्ची घानी का तेल ,केमिकल रहित गुड ,नेचरल शुगर ओर गौ आधारित खेती (ऑर्गेनिक खेती )से उत्पादित वस्तुओं का वैज्ञानिक महत्व समजा कर शुध्ध वस्तुओं के उपयोग द्वारा निरोगी रहेने का मार्गदर्शन दिया जाता हे | जेसे आज भ्रष्टाचार ,अराजकता ओर कालाधन देश को जेसे खोखला कर रहा हे , वेसे ही बीमारियों के पीछे होने वाले खर्च से लाखों करोडों रुपे विदेश जा रहें हे | इस कारण सेभी हमारा निरोगी ,स्वस्थ रहना राष्ट्रिय कर्तव्य हे ,जिससे राष्ट्र शसक्त ,सबल ओर समृध्ध होगा |

लक्ष्मी नारायण ट्रस्ट की प्रवृत्ति

नि:शुल्क सेवाएं

  • निरामय आरोग्य सभा
  • निरामय निदान केंद्र
  • तेजस्वी सुवर्णप्राशन
  • गर्भधान संस्कार
  • स्वास्थ्यम पुस्तकालय

स:शुल्क सेवाएं

  • निरामय स्वदेशी केंद्र
  • निरामय पंचकर्म केंद्र​

आयुर्वेदाचार्य – योगेश वी. वाणी

“लक्ष्मीनारायण चॅरिटेबल ट्रस्ट” के फाउंडर है। ये संस्था की 15 साल पहले स्थापना की गयी थी। और पिछले 5 साल से बिना दवाइयो से कैसे स्वस्थ रह सकते हैं। और दवाइयो से कैसे आसानीसे छुटकारा पा सकते हैं। ये सब बातें जन जन तक पहुचाने का एक संकल्प लिया है।
आजकी चिकित्सा व्यवस्था को देख कर और लोगो की बीमारियों के बारे में जानकर सोसायटी, स्कूल, कॉलेज में जाकर बिना चार्ज लिए आरोग्य सभा के माध्यम से निरोगी समाज बनाने का एक भगीरथ अविरत कार्य करते हुवे आज लक्ष्मीनारायण चॅरिटेबल ट्रस्ट की 300 से ज्यादा स्वास्थ्य के विषय पर सेमिनार ले चुके हैं।
निरोगी रहने के जो नियम बताते हैं उस नियम का पालन करने से डायबिटीस, थाइरॉइड, संधिवात, ब्लडप्रेशर, विटामिन B-12, गैस, A.C.D.T. , सोरायसिस, माइग्रेन जैसी गंभीर बीमारियों से काफी सारे लोगो की दवाइया बंद करवा के स्वास्थ प्रदान किया हैं।
संस्था का मैन सेंटर सूरत स्थित अमरोली विस्तार मैं है। और इसके अलावा सूरत में 4 जगह पर सेवा देने के लिए भी जाते हैं। और कोई भी सेंटर पर बिना फाइल चार्ज से निदान करने की सेवा करते हैं।
वे पहले एलोपेथी में प्रॅक्टिस करते थे। फिर अचानक इन्होंने चरक संहिता, वाग्भट ऋषि और राजीव भाई जैसे महान पुरुषो से प्रेरणना लेकर एलोपेथी प्रॅक्टिस बंद करके आज पूरी तरह से आयुर्वेदिक चिकित्सा से बहोत सारे लोगो को गंभीर बीमारियो से स्वास्थ प्रदान किया हैं।