Relieve Joint and Muscle Pain – Ayurveda advice Part 3 |
3000
post-template-default,single,single-post,postid-3000,single-format-standard,bridge-core-2.8.4,pmpro-body-has-access,qodef-qi--no-touch,qi-addons-for-elementor-1.3,qode-page-transition-enabled,ajax_fade,page_not_loaded,,qode-theme-ver-26.8,qode-theme-bridge,disabled_footer_top,disabled_footer_bottom,qode_header_in_grid,elementor-default,elementor-kit-1289

Relieve Joint and Muscle Pain – Ayurveda advice Part 3

Relieve Joint and Muscle Pain – Ayurveda advice Part 3 by Niramay Swasthyam

Relieve Joint and Muscle Pain – Ayurveda advice Part 3

प्राकृतिक चीजे जिसे जोड़ों मांसपेशियों के दर्द में राहत मिलती है

आयुर्वेद में मांसपेशियों और जोड़ों के दर्द को मिटाने में उस पर अंकुश करने में मदद करने के लिए प्राकृतिक चीजों का उपयोग होता है। यह प्राकृतिक चीजों में पौधों की पत्तियां, फल, फूल, छाले, जड़ और तनों का उपयोग किया जाता है। यह सारी चीजों का हजारों वर्षों से घरेलू उपचार के रूप में उपयोग किया जाता है। और इनके परिणाम स्वरूप जोड़ों और मांसपेशियों के दर्द में यह बहुत फायदेमंद होते हैं।

Relieve Joint and Muscle Pain – Ayurveda advice Part 3

ज्यादातर उपयोग में आने वाली सामग्री यहां है-

नीलगिरी

नीलगिरी मांसपेशियों के दर्द और जोड़ों के दर्द को कम करने में मदद करने वाली सबसे अच्छी प्राकृतिक वनस्पति है। इसके पेड़ के तेल का उपयोग सदियों से दर्द और दर्द के दौरान होने वाली तकलीफ मैं मदद के लिए किया जाता है।

अश्वगंधा

अश्वगंधा एक शक्तिशाली वनस्पति है जिसका उपयोग आयुर्वेद में सूजन होने के वक्त किया जाता है। यह जोड़ों के दर्द को कम करने में बहुत मददगार होता है।

अदरक

अदरक खाना पकाने में उपयोग किया जाने वाला एक बहुत महत्वपूर्ण मसाला है।यह प्रकृति में एक एंटीऑक्सीडेंट है जो सूजन को कम करने में मदद करता है।यह भी जोड़ों के दर्द और घुटने के दर्द को नियंत्रित करने में बहुत सहायक है।

निर्गुंडी

निर्गुंडी प्रकृति में पाई जाने वाली एक एंटीऑक्सीडेंट औषधिय वनस्पति है। यह सूजन को ठीक करने में मदद करता है और जोड़ों के दर्द में राहत देता है।यह मांसपेशियों के दर्द में और शरीर के कोई भी दर्द में राहत प्रदान करने में भी मदद करता है।

त्रिफला

त्रिफला यह तीन जड़ी बूटियों जैसे के आंवला, बहेड़ा और हरडे से बनाया जाता है। यह एक बहुत शक्तिशाली सुत्रीकरण है जो सूजन को कम करने में मदद करता है और इसके दर्द को भी कम करता है।

गुग्गुल

गुग्गुल एक पारंपरिक और दर्द निवारक प्राकृतिक औषधि है जो शरीर में भड़काऊ स्थितियों का नियंत्रण करने में मदद करती है। यह जोड़ों में सूजन को कम करने में भी मदद करता है।

शल्लकी
यह सूजन और सूजन के दर्द को कम करने में सहायक होता है।यह जोड़ों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए और उसकी गतिशीलता को बढ़ाने में भी बहुत मदद करता है।

सहजन

सहजन के पत्ते और उसका फल खाने में उपयोग किया जाता है। यहां जोड़ो, मांसपेशियों और हड्डियों के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

हल्दी दूध

हल्दी दूध के सुबह शाम सेवन से भी घुटनों के दर्द में लाभ मिलता है।जोड़ों का दर्द दूर करने में सबसे असरकारक है।

लौंग

लौंग दांत और मसूड़ों के दर्द और घुटनों के दर्द और सूजन आदि सब में काफी लाभकारी है।दर्द वाली जगह पर लॉन्ग का पाउडर या लॉन्ग के तेल में बिका रुई रखना बहुत असरकारक है।

मेथी दाना

मेथी दाना जोड़ों पर दवाई की तरह एनाल्जेसिक एवं anti-inflammatory होता है। घुटनों एवं जोड़ों के दर्द के लिए मेथी दाने का पाउडर आधा चम्मच सुबह-शाम खाने के बाद गर्म पानी के साथ लेने से बहुत आराम मिलता है।

सरसों तेल

सरसों तेल शरीर के दर्द घुटनों के दर्द सर्दी और कई दर्द में बहुत लाभकारी होता है। नियमित रूप से सरसों के तेल की मालिश करने से जोड़ों और मांसपेशियों का दर्द जल्दी दूर हो जाता है

ऐसी कई प्राकृतिक औषधि है जो जोड़ों और मांसपेशियों की समस्या में अत्यंत लाभदायक है। कई ऐसी घरेलू औषधियां है जिनको रोज के जीवन में उपयोग करने की वजह से जोड़ों और मांसपेशियों की आने वाली समस्याओं को भी रोका जा सकता है। सिर्फ इसके लिए सही ज्ञान की आवश्यकता होती है। रोज खुराक में उपयोग आने वाली कई औषधि है जो घर में हर किसी के लिए फायदेमंद है।

Click here for YouTube Channel 

तो यह सारी चीजों की जानकारी कैसे पाए?

इसके लिए निरामय स्वास्थ्यम् (Best Ayurvedic Treatment Center, Niramay Swasthyam) उनके द्वारा स्वास्थ्य केंद्र का लाभ लें।

यह निशुल्क है, जहां पर स्वास्थ्य के अलग-अलग विषय पर स्वास्थ्य का ज्ञान मिलता है। यह निशुल्क स्वास्थ्य केंद्र इंटरनेशनल अवार्ड से ख्यातनाम ऐसे वैद्य योगेश वाणी जी के द्वारा संचालित किया जाता है। इसका मुख्य उद्देश्य लोगों में स्वास्थ्य की जानकारी और आयुर्वेद की सही समझ को देना ही है। जिसका कोई चार्ज नहीं लिया जाता।

तो जुड़िए निशुल्क स्वास्थ्य केंद्र से और स्वास्थ्य के ज्ञान को बढ़ाकर अपने घर समाज और देश में स्वास्थ्य को बढ़ाएं और लंबी आयु को पाए।

No Comments

Post A Comment