Best Ayurvedic beauty and skincare tips at home. |
3437
post-template-default,single,single-post,postid-3437,single-format-standard,bridge-core-2.8.4,pmpro-body-has-access,qodef-qi--no-touch,qi-addons-for-elementor-1.3,qode-page-transition-enabled,ajax_fade,page_not_loaded,,qode-theme-ver-26.8,qode-theme-bridge,disabled_footer_top,disabled_footer_bottom,qode_header_in_grid,elementor-default,elementor-kit-1289

Best Ayurvedic beauty and skincare tips at home.

Best Ayurvedic beauty and skincare tips at home.

आयुर्वेदिक सौंदर्य और त्वचा की देखभाल के नुस्खे आजमाएं

Ayurvedic beauty and skincare tips from home.

घर के कामों के बीच, ऑफिस और घर वापस जाने के लिए दैनिक आवागमन, और जीवन नामक कड़ी पर चलने के तनाव के बीच, आपको शायद ही खुद को लाड़-प्यार करने का समय मिलता है।

आयुर्वेद – प्रकृति के सार से प्रेरित जीवन का विज्ञान (और कला)। आयुर्वेद केवल हर्बल उपचार के बारे में नहीं है। यह जीवन का एक तरीका है। यह जीवन शैली की आदतों को अपनाने के बारे में है जो आपको आप के सबसे सुंदर संस्करण में बदल देगी।

यहां कुछ समय-परीक्षणित शुद्ध करने की आदतें और आयुर्वेदिक सौंदर्य युक्तियाँ दी गई हैं जिन्हें आप अपनी त्वचा देखभाल दिनचर्या में शामिल कर सकते हैं।

  • जल्दी सोना और जल्दी उठना

यह अभ्यास आपको स्वस्थ और बुद्धिमान बनाने के अलावा आपकी सुंदरता की रक्षा करता है। बहुत अधिक देर रात तक रहने और पर्याप्त नींद न लेने से आपके शरीर में भड़काऊ कोशिकाओं की संख्या बढ़ जाती है जो त्वचा की समस्याओं को बदतर और ट्रिगर करती हैं, जैसे कि मुँहासे और जिल्द की सूजन। इसके अलावा, वे त्वचा के हाइड्रेशन सिस्टम को खराब कर देते हैं, जिससे आपकी त्वचा शुष्क हो जाती है और जल्दी बूढ़ी हो जाती है। अपनी त्वचा को फिर से जीवंत महसूस कराने के लिए आपको एक उचित दिनचर्या का पालन करने की आवश्यकता है

  • असंगत खाद्य पदार्थ न मिलाएं

भोजन औषधि है। लेकिन गलत संयोजन में लेने पर यह जहर में बदल सकता है। अपनी त्वचा और स्वास्थ्य की देखभाल के लिए इन असंगत खाद्य पदार्थों से बचें:

दूध और फल:

हाँ। यहां तक कि अगर आप फलों के साथ मिश्रित दही का कटोरा पसंद करते हैं, तो इससे बचें। फल जल्दी पच जाते हैं और दूध को पचने में समय लगता है। तो, प्रसंस्करण समय के दौरान, फल दूध को फटकारता है और अम्लता पैदा करता है।

दूध और मांस:

यदि आपके पास मछली और मांस है तो दूध उत्पादों (मिठाई सहित) का सेवन करने से बचें। मछली आपके शरीर को गर्म करती है जबकि दूध इसे ठंडा करता है। इन विपरीत खाद्य पदार्थों के संयोजन से शरीर के महत्वपूर्ण चैनल बाधित होते हैं।

खाने के बाद कोल्ड ड्रिंक्स:

खाने के बाद ठंडा या ठंडा पानी पीने से बचें। ऐसा इसलिए है क्योंकि ठंड पाचक रसों को दबा देती है और पेट की समस्याओं का कारण बनती है। यह जमे हुए दही और आइसक्रीम के बाद (या पहले) भोजन के लिए भी लागू होता है।

घी और शहद:

दोनों ही आपके शरीर में विपरीत प्रतिक्रिया उत्पन्न करते हैं। घी आपके शरीर को ठंडा करता है, वहीं शहद इसे गर्म करता है, और यह असंतुलन पैदा कर सकता है।

  • हर्बल चाय पिएं

दिन भर खुद को हाइड्रेट रखना बहुत जरूरी है। पानी पिएं और बीच-बीच में हर्बल टी भी पिएं। कैमोमाइल, अदरक, या नींबू जैसी जड़ी-बूटियों का उपयोग करके चाय बनाएं और अपने पाचन को स्वस्थ रखने के लिए दोपहर में इसका सेवन करें। और चमकती त्वचा के लिए एक स्वस्थ पाचन तंत्र महत्वपूर्ण है।

  • उच्च जल सामग्री वाली सब्जियों का सेवन करें

पानी की मात्रा से भरपूर सब्जियां आसानी से पच जाती हैं। गाजर, मूली, लेट्यूस, शतावरी और सौंफ, और ककड़ी जैसी सब्जियां सभी प्रकार की त्वचा के लिए फायदेमंद होती हैं। ये शोधक के रूप में पूजनीय हैं। इन्हें पकाएं या काट लें और सलाद बना लें। अपनी त्वचा को स्वस्थ रखने के लिए हमेशा कम से कम 3-5 सब्जियों को किसी भी रूप में मिलाएं।

  • व्यायाम

यह न केवल आपके दिल और फेफड़ों के लिए अच्छा है, बल्कि यह खूबसूरत और चमकती त्वचा की भी कुंजी है। व्यायाम रक्त परिसंचरण को बढ़ाता है, और यह बदले में, आपकी त्वचा की कोशिकाओं को पोषण देता है और हानिकारक मुक्त कणों और विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालता है। इससे आपकी त्वचा अंदर से ग्लो करने लगती है।

  • ब्रीदिंग एक्सरसाइज करें (Breathing Exercise)

शारीरिक तनाव से ज्यादा, मानसिक तनाव त्वचा के स्वास्थ्य पर भारी पड़ सकता है। नियंत्रित श्वास व्यायाम तनाव को दूर करने और अपने दिमाग को शांत करने का एक शानदार तरीका है। सोने से पहले, एक साधारण साँस लेने का व्यायाम करें। श्वास लें और अपने पेट को हवा से भरें। फिर, इसे उठने दें। अपने फेफड़ों को भरें और फिर विपरीत क्रम में धीरे-धीरे सांस छोड़ें। सोने से पहले या दिन में किसी भी समय 5 से 20 मिनट तक इसका पालन करें।

  • ध्यान

आप सोच रहे होंगे कि यह कैसे आपकी त्वचा को खूबसूरत और चमकदार बना सकता है। वैसे ध्यान आपके मन को शांत करने में मदद करता है। जब आपका दिमाग आराम पर होता है, तो सकारात्मक ऊर्जा या “ची” आपके शरीर में प्रवाहित होती है, जो आपकी कोशिकाओं को महत्वपूर्ण ऊर्जाओं से भर देती है। यह न केवल तनाव को कम करता है बल्कि आपकी त्वचा को फिर से जीवंत करता है।

प्रकृति की ओर वापस जाना

और अपने आप को इसके उपचारात्मक स्पर्श में डुबो देना आपकी त्वचा को “आई लव यू” कहने का सबसे अच्छा तरीका है।

आपको एक ही बार में सभी आयुर्वेदिक त्वचा देखभाल युक्तियों का पालन करने की आवश्यकता नहीं है।

इन आदतों को एक-एक करके अपनाने की कोशिश करें। और अपना अनुभव साझा करना न भूलें और नीचे टिप्पणी अनुभाग में एक टिप्पणी छोड़ें।

Click here for YouTube Channel

सही जीवन शैली कहां से पता चलेगी?

निरामय स्वास्थ्यम् (Best Ayurvedic Treatment Center, Niramay Swasthyam) के द्वारा वैद्य योगेश वाणिजी समाज में स्वास्थ्य की जागृति के लिए बहुत प्रयास कर रहे हैं। (संपर्क नंबर – 9825440570)

लोगों को स्वास्थ्य मिले उसके लिए कई निशुल्क प्रवृत्तियां भी शुरू की है। उसमें सबसे महत्वपूर्ण निशुल्क प्रवृत्ति निशुल्क रोग मुक्ति व्याख्यान है। इसके अलावा भी हर हफ्ते उनके द्वारा निशुल्क स्वास्थ्य केंद्र लिया जाता है। जिसका उद्देश्य यही है की हर मनुष्य स्वास्थ्य के बारे में जागृत हो, स्वस्थ रहने का विज्ञान समझे, और जो जीवनशैली अपनाएं उसकी वजह से उनके स्वास्थ्य में लाभ हो। क्योंकि स्वस्थ व्यक्ति ही स्वस्थ समाज बना सकता है और स्वस्थ समाज से ही स्वस्थ देश का निर्माण होता है। इसीलिए स्वास्थ्य प्राप्त करने के लिए निरामय स्वास्थ्यम् के द्वारा चलने वाले ऐसे निशुल्क स्वास्थ्य की प्रवृत्तियों का लाभ लीजिए और समाज में जागृति फैलाए।

ज्यादा जानकारी के लिए संपर्क करे +91 98254 40570

अब स्वस्थ रहना है, बड़ा आसान।

स्वस्थ रहो मस्त रहो


Niramay Swasthyam​​​ Best Ayurvedic Treatment Center

स्वस्थ रहो मस्त रहो

2 Comments

Post A Comment