Best Ayurvedic beauty and skincare tips 2 at home 2021 |
3442
post-template-default,single,single-post,postid-3442,single-format-standard,bridge-core-2.8.4,pmpro-body-has-access,qodef-qi--no-touch,qi-addons-for-elementor-1.3,qode-page-transition-enabled,ajax_fade,page_not_loaded,,qode-theme-ver-26.8,qode-theme-bridge,disabled_footer_top,disabled_footer_bottom,qode_header_in_grid,elementor-default,elementor-kit-1289

Best Ayurvedic beauty and skincare tips 2 at home 2021

आयुर्वेदिक सौंदर्य और त्वचा की देखभाल के नुस्खे आजमाएं part2 by Niramay Swasthyam

Best Ayurvedic beauty and skincare tips 2 at home 2021

घर के कामों के बीच, ऑफिस और घर वापस जाने के लिए दैनिक आवागमन, और जीवन नामक कड़ी पर चलने के तनाव के बीच, आपको शायद ही खुद को लाड़-प्यार करने का समय मिलता है।

Best Ayurvedic beauty and skincare tips at home 2021

Related Topic आपने आगे के 7 नुस्खे देख कर उसका उपयोग जरूर किया होगा

  • अपनी त्वचा को मॉइस्चराइज़ करें

आपकी त्वचा को नमीयुक्त और हाइड्रेटेड रखना महत्वपूर्ण है। पर्याप्त पानी पीने के अलावा तेल मालिश भी करें। तेल मालिश या अभ्यंग आयुर्वेदिक त्वचा देखभाल दिनचर्या का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। हर्बल तेलों से अपनी त्वचा की मालिश करने से न केवल आपकी मांसपेशियों और ऊतकों को आराम मिलता है बल्कि रक्त प्रवाह भी बढ़ता है। यह रूखी त्वचा को भी दूर रखता है। सर्वोत्तम परिणामों के लिए, बिस्तर पर सोने से ठीक पहले अपनी त्वचा की तेल से मालिश करें ताकि उसे खुद को फिर से जीवंत करने और तेल की अच्छाइयों को सोखने का पर्याप्त समय मिल सके। आप स्व-मालिश की कोशिश कर सकते हैं या तेल मालिश के लिए स्पा में जा सकते हैं।

  • बीजों और मेवों का सेवन करें

बीज और मेवे सिर्फ पक्षियों के लिए नहीं हैं। दरअसल, इन्हें अपने नियमित आहार में शामिल करने से आपकी त्वचा स्वस्थ रहती है। इनमें स्वस्थ वसा होते हैं जो आपके हृदय प्रणाली के साथ-साथ आपकी त्वचा के लिए भी अच्छे होते हैं। इनमें ओमेगा -3 फैटी एसिड और फाइबर भी होते हैं। चमकती त्वचा के लिए नियमित रूप से सूरजमुखी के बीज, बादाम, पिस्ता और अलसी का सेवन करें।

    अपनी चीनी और नमक का सेवन कम करें

उच्च नमक का सेवन आपके रक्तचाप के स्तर को प्रभावित करता है, और यह बदले में, आपके हृदय रोग के जोखिम को बढ़ाता है। इसके अलावा, अतिरिक्त चीनी और नमक आपकी त्वचा में कोलेजन और इलास्टिन को नुकसान पहुंचाते हैं। ये दो यौगिक आपकी त्वचा को लोचदार, टोंड और शिकन मुक्त रखते हैं।

अत्यधिक धूप से अपनी त्वचा की रक्षा करें

अति किसी भी चीज की आपके लिए बुरी होती है। जबकि आपकी त्वचा को विटामिन डी की दैनिक खुराक देने के लिए थोड़ा सा सूरज का एक्सपोजर आवश्यक है, अत्यधिक एक्सपोजर इसे नुकसान पहुंचा सकता है। यूवी किरणें टैनिंग, सनबर्न, हाइपरपिग्मेंटेशन और झुर्रियों का कारण बन सकती हैं। जब भी बाहर जाएं तो सनस्क्रीन लगाना न भूलें। अपनी त्वचा की सुरक्षा के लिए छाता, टोपी या दुपट्टे का प्रयोग करें।

अपनी जीवनशैली की आदतों में सुधार करने के अलावा, आपको हर दिन अपनी त्वचा को रसायनों से थपथपाना बंद करना चाहिए। इसके बजाय, इसे स्वस्थ रखने के लिए प्राकृतिक अवयवों और उपचारों पर स्विच करें। ये सामग्री आपको अपने किचन या फ्रिज में आसानी से मिल जाएगी। आइए कुछ पर नजर डालते हैं।

नारंगी आपके रंग में सुधार के लिए

संतरे के छिलके में विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो आपकी त्वचा को साफ और चमकदार बनाए रखते हैं। तैलीय त्वचा के लिए आयुर्वेदिक फेस पैक बनाने के लिए यह एकदम सही सामग्री है। यह मुंहासों के प्रकोप को भी कम करता है। संतरे के छिलकों को धूप में सुखाएं और इनका पाउडर बनाकर अपनी त्वचा पर लगाएं।

जिसकी आपको जरूरत है

1 बड़ा चम्मच संतरे के छिलके का पाउडर

2 बड़े चम्मच दही

तरीका

पाउडर और दही मिलाएं।

इसे अपने चेहरे और गर्दन पर समान रूप से लगाने के लिए ब्रश का उपयोग करें।

इसे 20 मिनट तक लगाकर रखें।

इसे धो लें।

  • मुंहासों को नियंत्रित करने के लिए चंदन और हल्दी

चंदन और हल्दी दोनों को उनके जीवाणुरोधी गुणों के लिए आयुर्वेद में सम्मानित किया गया है। आयुर्वेदिक त्वचा देखभाल में भी दोनों का व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है। वे मुँहासे पैदा करने वाले बैक्टीरिया को मारते हैं, त्वचा को साफ करते हैं, छिद्रों को कसते हैं और सूजन को रोकते हैं।

जिसकी आपको जरूरत है

1 बड़ा चम्मच चंदन पाउडर

½ बड़ा चम्मच हल्दी

2-3 बड़े चम्मच शहद (स्थिरता के अनुसार समायोजित करें)

तरीका

एक कांच के बाउल में सारी सामग्री मिला लें।

क्रीमी पेस्ट बना लें।

इसे अपने पूरे चेहरे पर लगाएं और सूखने तक लगा रहने दें।

इसे ठंडे पानी से धो लें।  

  • पिग्मेंटेशन के लिए कच्चा आलू

आलू में स्टार्च होता है और इसमें हल्के ब्लीचिंग गुण होते हैं जो प्राकृतिक रूप से रंजकता, काले धब्बे और निशान को कम करने में मदद करते हैं। इसके अलावा, इसमें सहायक एंजाइम भी होते हैं जो समय से पहले बूढ़ा होने से रोकते हैं।

जिसकी आपको जरूरत है

1 आलू

कपास की गेंद

तरीका

आलू को कद्दूकस कर उसका रस निकाल लें।

कॉटन बॉल को आलू के रस में डुबोकर प्रभावित जगह पर लगाएं।

इसे रात भर लगा रहने दें।

अगले दिन इसे धो लें।  

प्रकृति की ओर वापस जाना और अपने आप को इसके उपचारात्मक स्पर्श में डुबो देना आपकी त्वचा को “आई लव यू” कहने का सबसे अच्छा तरीका है।

आपको एक ही बार में सभी आयुर्वेदिक त्वचा देखभाल युक्तियों का पालन करने की आवश्यकता नहीं है। इन आदतों को एक-एक करके अपनाने की कोशिश करें।

और अपना अनुभव साझा करना न भूलें और नीचे टिप्पणी अनुभाग में एक टिप्पणी छोड़ें।

Click here for YouTube Channel

सही जीवन शैली कहां से पता चलेगी?

निरामय स्वास्थ्यम् (Best Ayurvedic Treatment Center, Niramay Swasthyam) के द्वारा वैद्य योगेश वाणिजी समाज में स्वास्थ्य की जागृति के लिए बहुत प्रयास कर रहे हैं। (संपर्क नंबर – 9825440570)

लोगों को स्वास्थ्य मिले उसके लिए कई निशुल्क प्रवृत्तियां भी शुरू की है। उसमें सबसे महत्वपूर्ण निशुल्क प्रवृत्ति निशुल्क रोग मुक्ति व्याख्यान है। इसके अलावा भी हर हफ्ते उनके द्वारा निशुल्क स्वास्थ्य केंद्र लिया जाता है। जिसका उद्देश्य यही है की हर मनुष्य स्वास्थ्य के बारे में जागृत हो, स्वस्थ रहने का विज्ञान समझे, और जो जीवनशैली अपनाएं उसकी वजह से उनके स्वास्थ्य में लाभ हो। क्योंकि स्वस्थ व्यक्ति ही स्वस्थ समाज बना सकता है और स्वस्थ समाज से ही स्वस्थ देश का निर्माण होता है। इसीलिए स्वास्थ्य प्राप्त करने के लिए निरामय स्वास्थ्यम् के द्वारा चलने वाले ऐसे निशुल्क स्वास्थ्य की प्रवृत्तियों का लाभ लीजिए और समाज में जागृति फैलाए।

ज्यादा जानकारी के लिए संपर्क करे +91 98254 40570

अब स्वस्थ रहना है, बड़ा आसान।

स्वस्थ रहो मस्त रहो


Niramay Swasthyam​​​ Best Ayurvedic Treatment Center

स्वस्थ रहो मस्त रहो

1 Comment

Post A Comment