Mon-Fri(9am-7pm)

Arogya Mandir

569, Ambika nagar, Amroli, Surat, Gujarat 394107

आज यह बहुत बड़ा सवाल है,

क्या हर रोग ठीक हो सकता है ?

हां जरूर। Ayurveda have more Power to cure any disease in 2021

The term “cure” means that, after medical treatment, the patient no longer has that particular condition anymore. Some diseases can be cured.

आज का विज्ञान जहां पर ना बोल देता है, क्या वह रोग भी ठीक होता है ?

यह विश्वास करना मुश्किल होगा, परंतु हर रोग ठीक हो सकता है।

आज के असाध्य रोग जैसे कि सोरायसिस (Psoriasis), संधि वात (Rheumatism), ब्लड प्रेशर (Blood pressure) डायबिटीज (Diabetes), निःसंतान (Infertility), थाइरोइड (Thyroid), अस्थमा (Asthma), पैरालिसिस (Paralysis), हृदय रोग (Heart disease), मोटापा (Obesity), माइग्रेन (Migraine) जैसे कई रोगों को निरामय स्वास्थ्यम् (Best Ayurvedic Treatment Center, Niramay Swasthyam) के द्वारा मिटाया गया है। (diseases can be cured by Niramay Swasthyam)

that’s why Ayurveda have more Power to cured any disease in 2021

वैद्य योगेश वाणी जी कहते हैं अगर,

मनुष्य का जन्म है तो मृत्यु है,

इसी तरह से रोगों की उत्पत्ति है, तो नाश भी है।

आयुर्वेद कहता है, अगर रोग की उत्पत्ति समझे तो रोग का कारण भी समझ में आएगा और रोग को मिटाना कैसे हैं, यह भी समझ सकते हैं।

इस वजह से आयुर्वेद में मनुष्य की तीन प्रकृति, पंचतत्व, सप्त धातु यह सारी चीजों का संतुलन करके ही निदान किया जाता है।

अगर किसी के शरीर में कोई रोग है, तो समझिए इनकी यही चीजों में से किसी का संतुलन बिगड़ा हुआ है, तो जो सही तरह से शरीर को जान सकता है, वही इसका निदान कर सकता है।

और नाड़ी के आधार पर हमारी प्रकृति को जान सके उसे वैद्य कहते हैं।

Related topic: Best Indian Vaidya – Why Professional Doctor become best Vaidya?

और ऐसे ही भारत के अंतर राष्ट्रीय और राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता वैद्य योगेश भाई वाणि जी है, जो लक्ष्मी नारायण चैरिटेबल ट्रस्ट में निशुल्क सेवा देते हैं।

उन्होंने अपने अनुभव के द्वारा निदान का एक नया और सच्चा तरीका निकाला है,

जिसमें वह 5 चीजों पर भार देते हैं,

१) सोच

२) रसोईघर

३) जीवन शैली

४) प्रकृति|प्राकृतिक

५) आयुर्वेद

यह पांच चीजों के द्वारा हमारे जीवन में हो रही, हमारे शरीर पर हो रही सारी चीजों में बदलाव ला सकते हैं।

अगर हम तंदुरुस्त हैं तो और स्वस्थ बन सकते हैं और अगर शरीर में रोग है तो उसको जड़ से मिटा सकते हैं।

यह सारी चीजों को समझाने के लिए निरामय स्वास्थ्य में निशुल्क आरोग्य व्याख्यान होता है, जिसमें वैद्य योगेश वाणी जी के द्वारा यह सारी चीजों को बारीकी से समझाया जाता है। उसके बाद जरूरत के हिसाब से ही दवाइयां दी जाती है।और आज हमारे यहां इतने सारे रोगों में सकारात्मक परिणाम मिले हैं कि आज कोई सवाल ही नहीं रहता कि आपका रोग मिटेगा कि नहीं?

यह जो सारी चीज है वह विज्ञान (Science) के आधार पर ही संशोधन के द्वारा की गई है।

जिसमें देखा जाए तो,

सोच (Thought)

मनुष्य की सोच उनके जीवन पर सीधा असर करती है, यह आज न्यूरोसाइंस (Neuroscience) ने भी साबित किया है। हमारे न्यूरॉन्स (Neurons) की रचना के द्वारा हमारा दिमाग (Brain) बनता है और यहीं से हमारे पूरे शरीर का संचालन होता है।

इसलिए सोच पर ध्यान देना प्रथम जरूरी है। क्योंकि मनुष्य के विचार ही उनके न्यूरॉन्स को बनाते हैं, तो अगर हमारी मन स्थिति निर्बल होगी तो कोई दवाई असर नहीं कर सकती है। इसके लिए निरामय स्वास्थ्यम् (Best Ayurvedic Treatment Center, Niramay Swasthyam) में निशुल्क आरोग्य व्याख्यान रखा जाता है।

रसोईघर का परिवर्तन

हमारा जो रसोईघर है वह हमारे स्वास्थ्य में सबसे बड़ी भूमिका निभाता है। हमारे रसोई घर में ऐसी बहुत सारी औषधि है, जो हर रोगों को जड़ से असर करती है। जैसे के अदरक (Ginger), हल्दी (Turmeric), काली मिर्च (Black Pepper), लौंग (Clove), अजवाइन (Celery), जीरा (Cumin) जैसी अनेक चीजें जो छोटे से बड़े रोगों में बहुत असर कारक भूमिका निभाती है।

तो अगर घर में कोई रोग आया है! तो हमारे रसोई घर में परिवर्तन लाना बहुत जरूरी है।

तो रसोई घर में क्या परिवर्तन लाना है?

किस तरीके से आप के रोगों में वह असर करता है, यह निरामय स्वास्थ्यम् (Best Ayurvedic Treatment Center, Niramay Swasthyam) के द्वारा बताया जाता है।

जीवन शैली (Lifestyle)

हमारी जो जीवन शैली है, वह भी हमारे लोगों के लिए बहुत ज्यादा असर करती है। जैसे के व्यायाम, ध्यान, खाना खाने की पद्धति, पानी पीने की पद्धति, काम करने की रीत, बैठने की रीत, चलने की रीत यह सब चीज हमारी जीवन शैली में आती है, और यह हमारे रोगों के लिए कारण भूत भी होती है। अगर हर चीज में बदलाव लाओ, पर इसमें बदलाव ना लाओ! तो भी रोग आपके जीवन से जाते नहीं है। भारत भर में पहली बार जानिए उम्र के अनुसार की जीवन शैली के बारे में, रोग मुक्ति व्याख्यान के माध्यम से। (Swasthya Kendra)

प्रकृति (Human Nature) | प्राकृतिक(Natural)

हमारी जो प्राकृतिक चीजें है, जिस के संपर्क में आने से भी हमारे जीवन में, हमारे स्वास्थ्य में बहुत उमदा असर होता है। ऐसी चीज हमारे रोगों को भी मिटा सकती है, जैसे के प्रकृति में सुबह-शाम चल ने जाना, हर रोज शुद्ध ऑक्सीजन (Oxygen) लेना, तुलसी के पत्तों को चबाना, प्राकृतिक खुराक खाना, प्राकृतिक चीजों से बनी वस्तुओं का इस्तेमाल करना, यह सारी चीज हमारे रोगों को मिटाने के लिए और स्वास्थ्य को बरकरार रखने के लिए अत्यंत आवश्यक है।

इंसान की प्रकृति जैसे वात, पित्त और कफ का संतुलन भी आवश्यक है।

What is Ayurveda ? A Guide to Holistic Health.

आयुर्वेद (Ayurveda)

आयुर्वेद एक अद्भुत विज्ञान है, जिसमें शरीर की छोटी से छोटी चीजों का भी ध्यान रखा गया है। यह एक बहुत बड़ा शास्त्र है, जिसके द्वारा शरीर में आए नकारात्मक बदलाव यानी कि रोगों में बदलाव लाया जा सकता है और स्वास्थ्य फिर से पा सकते है।

पर इसके लिए आयुर्वेद के उचित जानकार की जरूरत होती है, जैसे के वैद्य योगेश भाई वाणी जी।

यह सारी चीजों का संतुलन करके हर रोगों को जड़ से मिटाया जा सकता है, यह आप निरामय स्वास्थ्यम् (Best Ayurvedic Treatment Center, Niramay Swasthyam) को दिए गए प्रशंसापत्र (testimonials), समीक्षा (reviews) में देख सकते हैं।

Tap here to see Reviews of Patient On YouTube

Conclusion

आज तक सोरायसिस (Psoriasis), संधि वात (Rheumatism), ब्लड प्रेशर (Blood pressure) डायबिटीज (Diabetes), निःसंतान (Infertility), थाइरोइड (Thyroid), अस्थमा (Asthma), पैरालिसिस (Paralysis), हृदय रोग (Heart disease), मोटापा (Obesity), माइग्रेन (Migraine) जैसे अनेक असाध्य रोगों में यह विज्ञान के द्वारा हमारी संस्था से सकारात्मक परिणाम मिले हैं। (diseases can be cured by Niramay Swasthyam)

इसी वजह से आज यह चीज को हम भारत के और विश्व के लोगों तक जल्दी से पहुंचाना चाहते हैं। और उनके इलाज के लिए जो पैसा खर्च होता है, उनको भी बचाना चाहते हैं। इस वजह से संस्था में आरोग्य व्याख्यान, नाड़ी परीक्षण जैसी अद्भुत प्रवृत्ति निशुल्क रखी गई है।

तो आप भी हमसे जुड़ें और लोगों तक यह अद्भुत प्रवृत्ति पहुंचाएं और स्वास्थ्य रक्षक बने। आपके आसपास में रहने वाले कोई भी व्यक्ति को असाध्य बीमारी है! जिनकी आजीवन दवाई  चालू  है, उनको निरामय स्वास्थ्यम् (Best Ayurvedic Treatment Center, Niramay Swasthyam) यानी हमसे जोड़कर आप स्वास्थ्य दाता बनिए और लोगों के जीवन में स्वास्थ्य का बदलाव लाइए।

क्योंकि आजकल पैसो का दान तो हर कोई करता है,

पर स्वास्थ्य का दान कोई नहीं करता।

तो जो विज्ञान (आयुर्वेद) है, उसको लेकर व्यक्ति को स्वास्थ्य का दान करिए और हमारे देश को स्वस्थ बनाने में मदद रूप बनिए।

स्वस्थ रहो, मस्त रह

TopBack to Top