Best basic Idea of Ayurved by Niramay Swasthyam |
4412
post-template-default,single,single-post,postid-4412,single-format-standard,bridge-core-2.8.4,pmpro-body-has-access,qodef-qi--no-touch,qi-addons-for-elementor-1.3,qode-page-transition-enabled,ajax_fade,page_not_loaded,,qode-theme-ver-26.8,qode-theme-bridge,disabled_footer_top,disabled_footer_bottom,qode_header_in_grid,elementor-default,elementor-kit-1289

Best basic Idea of Ayurved by Niramay Swasthyam

Best basic Idea of Ayurveda by Niramay Swasthyam

Best basic Idea of Ayurved by Niramay Swasthyam

Best basic Idea of Ayurved by Niramay Swasthyam

  1. आप की जीवन शैली
  2. रसोई घर में परिवर्तन
  3. प्रकृति से संबंध
  4. मानसिक स्थिति
  5. आयुर्वेद
  • निरामय स्वास्थ्यम् में जीवन शैली के ऊपर ज्यादा ध्यान दिया गया है। हर एक व्यक्ति की जीवन शैली का असर उसके स्वास्थ्य के ऊपर अवश्य होता है। क्योंकि आप जैसा दिवस व्यतीत करते हो वही आपके जीवन पर असर करता है। जीवन शैली में देखा जाए तो आपके उठने-सोने का समय, खाने-पीने का समय, दिवस में की गई सारी बातें जैसे कि कैसे लोगों के साथ उठना बैठना, कैसे विचारों को जीवन में लाना, कैसी बातों में समय निकालना और कैसी बातों के लिए समय व्यर्थ करना, स्वास्थ्य के तरफ ध्यान देना या ना देना, स्वास्थ्य दायक चीजों के लिए उत्साह रखना, योग प्राणायाम के लिए समय निकालना, खुराक लेने और पानी पीने के नियमों का पालन करना, शरीर में आई सामान्य बीमारियों के बारे में जागृत होना और वह कल उठकर बड़ी बीमारी का रूप ना लें उसके लिए कुछ उपाय करना।
  • ऐसी बहुत सारी बातें हैं जो हमारी जीवनशैली के साथ जुड़ी हुई है। अगर हम यह बातों पर ध्यान देते हैं तो जरूर रोगों का जीवन में आगमन नहीं होगा और अगर हो गया है तो उसका निकाल होने के रास्ते भी खुल जाएंगे।
  • देखने जाए तो यह बहुत आम बात है परंतु लोगों को हमारे घर में आने के लिए, पालने के लिए, बड़ा करने के लिए या उससे उल्टा रोबो को जीवन से और हमारे घर से निकालने के लिए यह बहुत बड़ी बातें हैं। कि हमने सुना है और जाना है कि दूर तक जाने की शुरुआत एक कदम से ही होती है। और साइड से स्वास्थ्य के लिए जो रास्ता है उसकी शुरुआत हमारी जीवनशैली से ही होती है।
    • इसीलिए तो कहते हैं आयुर्वेद दवाओं का विज्ञान नहीं है परंतु यह तो जीवन शैली का विज्ञान है।
  • इसके बाद अगर देखा जाए तो यह जीवन शैली का एक भाग है परंतु शरीर के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण और स्वास्थ्य दायक भाग है जो हमारे घर का एक महत्वपूर्ण भाग भी है और वह है हमारा रसोईघर। अगर सामान्य तरीके से देखा जाए तो रोज खाना जरूरी है इस वजह से रसोई घर एक बहुत आम बात हो गई है कि वह रसोई घर में खाना बनता है और वह हम खाते हैं। परंतु स्वास्थ्य की दृष्टि से देखा जाए तो हमारे जो खाना है वही कल उठकर हमारे शरीर का भाग बनता है। वही हमारे हर कोष का निर्माण करता है, उसी के द्वारा हमारे रक्त की वृद्धि होती है और हमारे शरीर में सारी प्रक्रिया और ऊर्जा हमारे खोराक के द्वारा ही आती है।
    • इसलिए
      • कैसा खुराक हम खाते हैं ?
      • कैसा खुराक हमारे शरीर के लिए अच्छा है ?
      • कैसा खुराक हमें स्वास्थ्य देता है ? यह चीजें समझना बहुत जरूरी है।
  • और हमारे रसोई घर में जो मसाले है यह आयुर्वेद के अनुसार बहुत बड़ी औषधि है। यह मसालों का किस प्रमाण में उपयोग करना और कौन से रोगों के लिए कौन सा तत्व ज्यादा असरकारक है यह बातों की समझ हमें स्वास्थ्य दे सकती है। इसलिए आज के समय में रसोई घर में परिवर्तन यह स्वास्थ्य के लिए बहुत-बहुत आवश्यक बात हो गई है।
    • इसके बाद देखा जाए तो प्रकृति से संबंध यह भी हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत जरूरी है। निरामय स्वास्थ्यम् मैं आयुर्वेद की यह मूलभूत बात को बहुत गहराई से ध्यान में रखा जाता है। क्योंकि अगर देखा जाए तो हमारे जीवन में, मनुष्य में स्वास्थ्य का एकमात्र स्त्रोत है, सूर्य और इसी तरह प्रकृति के हर एक तत्व स्वास्थ्य की ओर ही ले जाते हैं।
      • अगर आप पूरे दिन के अंदर प्रकृति के साथ समय नहीं बिता थे तो समझ लीजिए कल उठकर लंबे समय के बाद आपके जीवन में विकृति आती ही है।
      • प्रकृति में समय बिताना मतलब पेड़ पौधों के साथ समय बिताना, सुबह जल्दी उठकर जब ऑक्सीजन की मात्रा सर्वश्रेष्ठ हो तब प्राणायाम करना, सूर्य के प्रकाश में हर रोज बैठना, चंद्रमा की कलाओं के अपने जीवन में होते हुए अवसर को जानना।
  • ऐसे प्रकृति के साथ जुड़ने के बहुत कारण है और यह बहुत आवश्यक भी है। आज विज्ञान के बहुत सारे रिसर्च भी कहते हैं कि सिर्फ प्रकृति के साथ समय बिताने से बहुत सारे लोगों को मिटाया जा सकता है। प्रकृति में बसे पशुओं के साथ समय बिताने से आपके मानसिक स्वास्थ्य पर भी अच्छा प्रभाव पड़ता है। इस वजह से यह बात को सामान्य ना समझे और अपने जीवन में स्वास्थ्य को पाने के लिए प्रकृति के संग में आना जरूरी है।
  • निरामय स्वास्थ्यम् में यह बात पर बहुत गहराई से ध्यान दिया जाता है। क्योंकि आज रिसर्च के अनुसार पता चला है कि 95% रोग यह साइकोसोमेटिक रोग है।
    • ऐसे लोगों का जीवन में आने का बहुत बड़ा कारण वह व्यक्ति के विचार हैं, वह व्यक्ति की मानसिक परिस्थिति है।
    • इस वजह से अगर रोगों को जीवन से निकालना है तो अपनी मानसिक परिस्थिति को बदलना आवश्यक है।
    • वैद्य योगेश वाणी जी के द्वारा आज हर एक दर्दी के मानसिक परिस्थिति को ध्यान में रखकर उन्हें बातें समझाई जाती है और उनके रोगों के बारे में उनकी मनो स्थिति को बदलने का और सुधारने का कार्य भी किया जाता है।
    • आज समाज में रोगों के बढ़ रहे कारणों में से मानसिक स्थिति एक बहुत विशेष कारण है इसके ऊपर हर कोई ध्यान नहीं देता इस वजह से उनको रोगों का इलाज भी नहीं मिलता।
    • परंतु यहां पर यह बात को गहराई से ध्यान में दिया जाता है और इसी वजह से रोगों में परिणाम भी अच्छा मिलता है।
  • आयुर्वेद में हमारे जीवन में
    • क्या-क्या चीजों पर ध्यान दिया जाए?
    • कैसे कैसे चीजें खाई जाए ?
    • स्वास्थ्य के लिए क्या-क्या बातें आवश्यक है?
    • ऐसी हर एक वस्तुओं का विवरण किया गया है। उसका एकमात्र कारण यह है कि लोगों को जीवन में आने से पहले ही उनको रोका जाए।
    • और फिर भी अगर यह चीजों पर ध्यान नहीं देते और अगर रोग हमारे जीवन में आ भी जाते हैं तो उसके लिए भी बहुत सारी औषधियों को असरकारक बताया गया है। और यह ऐसी प्राकृतिक औषधि है जिसका हमारे शरीर पर साइड इफेक्ट नहीं होता। और ऐसी औषधियों को एक सही आयुर्वेद को समझने वाला वैद्य असरकारक तरीके से दे सकता है।
  • निरामय स्वास्थ्यम् (Best Ayurvedic Treatment Center, Niramay Swasthyam) इसी वजह से है क्योंकि यहां पर आयुर्वेद की हर एक मूलभूत बातों का वैद्य योगेश वाणी जी के द्वारा असरकारक और उसके मूलभूत तरीके से उपयोग किया जाता है और उसके बाद वैद्य जी के द्वारा रिसर्च की गई दवाइयों का सहारा लिया जाता है। और यही एक मात्रा और सबसे श्रेष्ठ कारण है के यहां पर आए हुए असाध्य रोगों के दर्दी का जड़ से इलाज किया जाता है।
  • इसी वजह से आयुर्वेद को सामान्य बात ना समझे। समाज में कई ऐसे भी लोग हैं जो सिर्फ आयुर्वेद के नाम का सहारा लेकर कार्य करते हैं उन्हें आयुर्वेद की मूलभूत तकनीकों का ज्ञान भी नहीं है। वैसे लोगों से दूर रहे और आयुर्वेद की सही तकनीकों के द्वारा और आयुर्वेद के सही ज्ञान का सहारा लेकर किए जाने वाले परिणामों पर ही ध्यान दें और ऐसे लोगों के संपर्क में ही आए। आपके कैसे भी रोगों को मिटाने के लिए निरामय स्वास्थ्यम् में संपर्क करें।

यह नंबर 9825440570 पर मैसेज या कॉल करके निशुल्क स्वास्थ्य व्याख्यान के लिए अपना नाम दर्ज करवा सकते हैं।

स्वस्थ रहो, मस्त रहो।

मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य समस्याओं का निदान पाइए निरामय स्वास्थ्यम् में, International Awarded Vaidya Yogesh Vani (Divine Healer) के द्वारा,

अब स्वस्थ रहना है, बड़ा आसान।

आयुर्वेद और प्राकृतिक दवा से जीवन को उच्चतम बनाने के लिए

निरामय स्वास्थ्यम् को Follow करें Instagram Id niramayswasthyam

अपने घर को स्वस्थ बनाए, आयुर्वेद को अपनाएं।

ज्यादा जानकारी के लिए संपर्क करे +91 98254 40570

🏡 हमारी संस्था राजीव दीक्षतजी प्रेरित लक्ष्मी नारायण चेरीटेबल ट्रस्ट जो आरोग्य प्रचारक संस्था है। हमारी संस्था दो प्रकार की अभियान चला रही है:

1) आरोग्य जागृति अभियान

2) रोग मुक्ति अभियान

ज्यादा जानकारी लीजिये +91 9825440570 संपर्क करके।

Click here for YouTube Channel

सही जीवन शैली कहां से पता चलेगी?

निरामय स्वास्थ्यम् (Best Ayurvedic Treatment Center, Niramay Swasthyam) के द्वारा वैद्य योगेश वाणिजी समाज में स्वास्थ्य की जागृति के लिए बहुत प्रयास कर रहे हैं।

लोगों को स्वास्थ्य मिले उसके लिए कई निशुल्क प्रवृत्तियां भी शुरू की है। उसमें सबसे महत्वपूर्ण निशुल्क प्रवृत्ति निशुल्क रोग मुक्ति व्याख्यान है। इसके  अलावा भी हर हफ्ते उनके द्वारा निशुल्क स्वास्थ्य केंद्र लिया जाता है। जिसका उद्देश्य यही है की हर मनुष्य स्वास्थ्य के बारे में जागृत हो, स्वस्थ रहने का विज्ञान समझे, और जो जीवनशैली अपनाएं उसकी वजह से उनके स्वास्थ्य में लाभ हो। क्योंकि स्वस्थ व्यक्ति ही स्वस्थ समाज बना सकता है और स्वस्थ समाज से ही स्वस्थ देश का निर्माण होता है। इसीलिए स्वास्थ्य प्राप्त करने के लिए निरामय स्वास्थ्यम् के द्वारा चलने वाले ऐसे निशुल्क स्वास्थ्य की प्रवृत्तियों का लाभ लीजिए और समाज में जागृति फैलाए।

ज्यादा जानकारी के लिए संपर्क करे +91 98254 40570

अब स्वस्थ रहना है, बड़ा आसान।

Niramay Swasthyam​​​ | Best Ayurvedic Treatment Center | Vaidya Yogesh Vani | Divine Healer


स्वस्थ रहो मस्त रहो

Niramay Swasthyam​​​ Best Ayurvedic Treatment Center


No Comments

Post A Comment