Uncategorized Strengthen your child’s immunity for a healthy life in 2021

Strengthen your child’s immunity for a healthy life in 2021


Strengthen your child's immunity for a healthy life in 2021

Spread Awareness

अपने बच्चे की इम्युनिटी बढ़ाएं

Strengthen your child’s immunity for a healthy life in 2021

क्या आपके बच्चों में इम्यूनिटी की कमी है ? क्या बदलते मौसम में आपके बच्चों की रक्षा प्रणाली कमजोर हो जाती है! और मौसम बदलते ही वह बीमार हो जाते हैं ? आयुर्वेद के अनुसार बदलते मौसम में मनुष्य की रक्षा प्रणाली कमजोर होती है। और यह समय में अगर शरीर को दिया जाने वाला पोषण बढ़िया है तो शरीर की प्रतिकारक शक्ति बढ़ती है। और अगर यह चीजों का ध्यान रखा जाए तो बच्चों की भी इम्यूनिटी बढ़ा सकते हैं और रोगाणुओं से बचा सकते हैं।

साल के कुछ खास दिनों में बच्चों की खोज का उपाय करना चाहिए। मौसम का बदलाव बीमारियों को लाता है इसलिए बच्चे हों या बड़े सभी के बीमार होने का खतरा रहता ही है। इसीलिए इन दिनों में शरीर की रक्षा प्रणाली को मजबूत बनाना और उसको बचाना ज्यादा जरूरी हो जाता है।

इसके लिए आयुर्वेद के मुताबिक सामान्य और घरेलू उपाय ऐसे हैं।

१) तुलसी वाला पानी

शुद्ध पानी ले और उसमें 7-8 तुलसी की पत्तियां डालकर उबालें। आप इसे ठंडा होने दे फिर जान लीजिए। बच्चों को यह पानी स्कूल में पीने के लिए भी दे। तुलसी में एंटीबायोटिक और कीटाणु नाशक गुण होते हैं यह रोगाणुओं से होने वाली बीमारी से बचाते हैं और शरीर की रक्षा प्रणाली को मजबूत बनाते हैं। खांसी, नाक बंद होना, सांस लेने में तकलीफ होना, दांतों का सड़ना ऐसे कई परेशानियों में तुलसी बहुत फायदेमंद है। तुलसी वाला पानी आंखों के लिए भी बहुत अच्छा है। इसके अलावा तुलसी के पत्ते भी चबाना स्वास्थ्य दायक है।

२) तिल के तेल से मालिश

तिल पित दोष को संतुलित करने के लिए बहुत अच्छा होता है। तिल का तेल पाचन को भी बढ़ाता है। यह शरीर, त्वचा, दिमाग और पाचन को सेहतमंद बनाता है। हर हफ्ते में एक बार बच्चों की तिल के तेल से मालिश जरूर करिए, इस बच्चे की त्वचा बेहतर होती है और उसकी हड्डियों में लचीलापन आता है। तिल के तेल से शरीर मजबूत होता है और उसकी रक्षा प्रणाली भी मजबूत होती है।

३) अदरक- हल्दी

अदरक हल्दी में  बायोएक्टिव गुण होते हैं जो शरीर की रक्षा प्रणाली को मजबूत बनाते हैं। हर रोज गर्म दूध में एक चम्मच हल्दी और चुटकी अदरक का पाउडर मिलाकर उसे उबालें। जब यह पूरी तरह घुल जाए तब उसको छानकर यह दूध बच्चों को पीलाए। यह इम्यूनिटी बढ़ाने में बहुत फायदेमंद है।

४) शरीर की रक्षा प्रणाली को मजबूत बनाने वाला आहार खाएं

आयुर्वेद में पाचन पर बहुत ज्यादा भर दिया गया है। खोराक कितना खा रहे हो कौन सा खा रहे हो उससे भी महत्वपूर्ण है कि खोराक कितना पच रहा है। खोराक को पचाने के लिए पेट में जो अग्नि होती है यह ताकतवर होना जरूरी है। इसीलिए ऐसा ही आहार ले जो पचने में आसान हो और हल्का हो। ऐसे आहार में दूध, दाल, ताजे फल, हरी सब्जियां वगैरे आते हैं।

५) तनाव को खत्म करें

तना होने पर शरीर तनाव से जुड़े हार्मोंस छोड़ता है जिससे शरीर की रोगप्रतिकारक शक्ति कमजोर होती है। आजकल बच्चों में भी तनाव ज्यादा पाया जाता है। परंतु इस मामले में बच्चों पर कोई ध्यान नहीं देता, लेकिन कुछ बच्चे स्कूल जा खेल के मैदान में तनाव को बहुत झेलते हैं। तनाव को कम करने के लिए बच्चों की मदद करना बहुत आवश्यक है, इसके लिए बच्चों के साथ कुछ समय बिताए हर रोज उनसे दिनचर्या की बातें करें, रोज 10 मिनट तक लंबी सांस लेने और छोड़ने वाला व्यायाम कराएं। ऐसे कई तरीके से आप बच्चों के तनाव में राहत दिलवा सकते हैं। यही सबसे महत्वपूर्ण है कि बच्चों में जो तनाव है उस पर हमें ध्यान देना ही चाहिए।

५) व्यायाम और अच्छी नींद

नियमित कसरत अच्छी सेहत मजबूत पाचन और शरीर के विषैले तत्वों को निकालने के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। इन सारी चीजों का सकारात्मक असर शरीर की रोग प्रतिकारक शक्ति और ओज पर पड़ता है। आज रिसर्च से यह साबित हो चुका है कि कम नींद लेने से शरीर की रक्षा प्रणाली कमजोर हो जाती है। मोबाइल टीवी फोन कंप्यूटर ऐसे नीली रोशनी छोड़ते हैं जो दिमाग को जगाएं रखती है। इस वजह से अच्छी नींद नहीं हो पाती। यह शरीर की नींद लेने की प्राकृतिक प्रक्रिया और आंखों को नुकसान पहुंचाती है इस वजह से नींद में खलल पहुंचाने वाली ऐसी सारी चीजों से जितना बन सके उतना बच्चों को दूर रखें।

Mental & Physical for Child, Megha Power is best.

आजकल लोग जागृत हो रहे हैं और आयुर्वेद की तरफ बढ़ रहे हैं। इस वजह से आयुर्वेद का सहारा लेकर बच्चों की रोग प्रतिकारक शक्ति बढ़ सकती है। मौसमी एलर्जी से बच्चों को बचाया जा सकता है। आजकल आयुर्वेदिक दवाइयां भी बहुत असरकारक हो गई है और लोगों का इस पर विश्वास भी बढ़ गया है। नियमित रूप से खुद का और खुद के बच्चों का आयुर्वेदिक डॉक्टर के द्वारा स्वास्थ्य चेकअप जरूर करवाएं और जो रोग है उसे मिटाएं और आने वाले रोगों को वही दफन कर दे। निशुल्क नारी आधारित बॉडी चेकअप के लिए निरामय स्वास्थ्य बेस्ट आयुर्वेदिक ट्रीटमेंट सेंटर मैं जल्द से अपॉइंटमेंट बुक कराएं और ऐसी अनेक सेवाओं का लाभ लें।

Click here for YouTube Channel

आज अगर देखा जाए तो हमारी जीवन शैली, हमारा खाने-पीने का तरीका, हमारी आदतें ऐसी हो गई है जो हमें हर रोज हमारे स्वास्थ्य से दूर लेकर जा रही है। अगर स्वास्थ्य को संभालना है तो हमें जीवन शैली में बदलाव लाना ही पड़ेगा। पर

सही जीवन शैली कहां से पता चलेगी?

निरामय स्वास्थ्यम् (Best Ayurvedic Treatment Center, Niramay Swasthyam) के द्वारा वैद्य योगेश वाणिजी समाज में स्वास्थ्य की जागृति के लिए बहुत प्रयास कर रहे हैं। लोगों को स्वास्थ्य मिले उसके लिए कई निशुल्क प्रवृत्तियां भी शुरू की है। उसमें सबसे महत्वपूर्ण निशुल्क प्रवृत्ति निशुल्क रोग मुक्ति व्याख्यान है। इसके अलावा भी हर हफ्ते उनके द्वारा निशुल्क स्वास्थ्य केंद्र लिया जाता है। जिसका उद्देश्य यही है की हर मनुष्य स्वास्थ्य के बारे में जागृत हो, स्वस्थ रहने का विज्ञान समझे, और जो जीवनशैली अपनाएं उसकी वजह से उनके स्वास्थ्य में लाभ हो। क्योंकि स्वस्थ व्यक्ति ही स्वस्थ समाज बना सकता है और स्वस्थ समाज से ही स्वस्थ देश का निर्माण होता है। इसीलिए स्वास्थ्य प्राप्त करने के लिए निरामय स्वास्थ्यम् के द्वारा चलने वाले ऐसे निशुल्क स्वास्थ्य की प्रवृत्तियों का लाभ लीजिए और समाज में जागृति फैलाए।


स्वस्थ रहो मस्त रहो।


Spread Awareness

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *